मांसाहारी भोजन खाना उचित या अनुचित | Eating non-vegetarian food is appropriate or inappropriate

मांसाहारी भोजन या शाकाहारी भोजन । Non-vegetarian food or vegetarian food.


दोस्तों आपने ज्यादातर सुना होगा कि शाकाहारी भोजन खाने वाले को मांसाहारी भोजन खाने वाला हमेशा यही कहता है कि यह तो घास फूस खाने वाला है उसको क्या पता कि मांसाहारी भोजन क्या होता है।और शाकाहारी भोजन वाले को यह कहते हुए सुना होगा कि यह तो जानवरों पर अत्याचार करता है और उनको खाता है लेकिन दोस्तों दोनों की अपनी अलग अलग राय हैं जोकि इनका खुद का अधिकार है हम उनसे यह अधिकार नहीं छीन सकते और ना ही उनको उनकी पसंद के खाने से रोक सकते हैं लेकिन दोस्तों हम इस पोस्ट में यह जानेंगे कि क्या सही में मांसाहारी भोजन खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए सही है या नहीं।


दुनिया के अंदर ज्यादा जनसंख्या मांस खाने वाली पाई जाती है और शाकाहारी भोजन का सेवन करने वाले की संख्या मात्र पूरे विश्व में लगभग 50 करोड़ है आप यह जान सकते हैं कि दोस्तों की लगभग 800 करोड़ में से 50 करोड़ लोग ही शाकाहारी भोजन का सेवन करते हैं। आप 800 करोड़ की जनसंख्या में 50 करोड़ लोगों को अल्पसंख्यक भी कह  सकते हैं। और लगभग भारत की कुल जनसंख्या 31 प्रतिशत हिस्सा शाकाहारी पाया जाता है यानी कि पूरे विश्व में सबसे ज्यादा शाकाहारी भोजन करने वाले भारत के अंदर पाए जाते हैं।

इसे भी पढ़ें:-Benefits of neem | नीम के फायदे |health care tips

Friends of earth :-


संस्था ने एक मीट एटलस जारी किया था। इस मीट एटलस के अनुमान से यह पता चला कि पूरे विश्व में सबसे ज्यादा शाकाहारी भोजन का सेवन करने वालों की संख्या भारत के अंदर पाई जाती है। और भारत में भी पूरी छूट दी गई है कि हर इंसान अपनी पसंद का भोजन कर सकें इसके बावजूद भी लगभग पूरी जनसंख्या का 31% भाग शाकाहारी है।


US National Academic Research: -
अमेरिका के नेशनल एकेडमिक रिसर्च :-


 यह पाया गया कि यदि हर इंसान शाकाहारी भोजन का इस्तेमाल करें तो हमारी दुनिया को ज्यादा स्वस्थ ज्यादा ठंडा और ज्यादा दौलत मंद बनाया जा सकता है।


फिलहाल इस दुनिया में तीन तरह का भोजन करने वाले लोग पाए जाते हैं। मांसाहारी भोजन करने वाले, शाकाहारी भोजन का प्रयोग करने वाले तथा वीगन।

Non-vegetarian people |
मांसाहारी का सेवन करने वाले लोग:-


इस कैटेगरी में वह लोग आते हैं जो चिकन मीट मछली अंडा या किसी भी तरह के मांस का खाने के रूप में उपयोग करते हैं उन लोगों को मांसाहारी कहा जाता है।

Vegetarian users |
शाकाहारी का सेवन करने वाले लोग:-


इस कैटेगरी में वह लोग आते हैं जो किसी भी तरह का मांस या मीट मछली खाना पसंद नहीं करते और ना ही उसे खाते हैं उन लोगों को हम शाकाहारी भोजन करने वाला कहते हैं। शाकाहारी लोग अपना भोजन दूध भी दही दूध से  बने अन्य प्रोडक्ट तथा सामान्य साग सब्जी रोटी चावल का भोजन के रूप में प्रयोग करते हैं।

(Vegan) People who consume only green vegetables and grains |
(वीगन) सिर्फ हरी सब्जियां और अन्न का सेवन करने वाले लोग:-


इस कैटेगरी में वह लोग आते हैं जो लोग किसी भी तरह के जानवरों से होने वाले उत्पाद का यह प्रोडक्ट का प्रयोग नहीं करते हैं जैसे कि दूध पनीर घी इत्यादि दूध से बने हुए या फिर जानवरों से जो प्रोडक्ट हमें मिलते हैं उनका उपयोग नहीं करते हैं उन लोगों को  वीगन कहते हैं।

इसे भी पढ़ें:-प्रोटीन से भरपूर शाकाहारी भोजन |Protein rich vegetarian food

National academic scientific research:-


यह पाया गया है यदि पूरी दुनिया ज्यादातर शाकाहारी भोजन का प्रयोग करें तो दुनिया में सालाना होने वाली 50 लाख मौतों को रोका जा सकता है।

यदि लोग दूध या दूध से बने अन्य चीजों का भी सेवन ना करें तो दुनिया भर में सालाना 80 लाख लोगों की मौतों को भी रोका जा सकता है लेकिन दोस्तों यह करना संभव नहीं हो पाएगा क्योंकि आजकल की जनरेशन में यह आजकल की जरूरतों के अनुसार हमें दूध से बनी चीजों का सेवन करना अत्यावश्यक है और हमारे शरीर को पोषक तत्व देने के लिए हमें दूध का सेवन या उसके बनी चीजों का सेवन करना ही पड़ेगा।

मांसाहारी भोजन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है मगर यह हमारी धरती के लिए बिल्कुल भी फायदेमंद नहीं है क्योंकि दोस्तों मांसाहार के आयात और निर्यात करने के लिए जिन साधनों का उपयोग होता है लगभग 20% प्रदूषण इन्हीं के कारण होता है आप जान सकते हैं कि दोस्तों की 20% प्रदूषण दुनिया में कितना होता है।

पानी की बर्बादी होती है मास में रिसर्च के अनुसार यह पाया गया कि मांसाहार भोजन को खाने की टेबल तक लाने के लिए शाकाहारी सब्जियों के मुकाबले 100 गुना ज्यादा पानी का उपयोग मांसाहारी भोजन में किया जाता है।

इसे भी पढ़ें:-गिलोय के फायदे | Benefit of Giloy

रिसर्च के अनुसार यह भी पता लगा है कि 1 किलो आलू गाने के लिए लगभग ढाई सौ लीटर पानी का उपयोग होता है लेकिन 1 किलो मीट के लिए लगभग 18000 लीटर पानी बर्बाद होता है।

दोस्तों हमें मांसाहारी भोजन से कई ऐसे प्रोटीन भी मिलते हैं जिससे कि हमारा स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है और हम अपने शरीर में कमजोरी को महसूस नहीं करते हैं और मांसाहारी भोजन से हमें भरपूर मात्रा में हमारे शरीर की जरूरत के अनुसार पोषक तत्व मिल जाते हैं।



लेकिन मांसाहारी भोजन से कई परेशानियां भी होती है क्योंकि हमारी आंतो के लिए मांसाहारी भोजन काफी कठोर होता है जो कि हमारी आंतो  को पचाने में काफी मशक्कत करनी पड़ती है जिससे कि कभी कबार हमारे पेट में कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

शाकाहारी भोजन स्वास्थ्य के लिए हमेशा अनुकूल रहता है और स्वास्थ्यवर्धक भी रहता है हम यह नहीं कह रहे कि आप मांसाहारी खाना छोड़ दो लेकिन दोस्तों हमारी राय के अनुसार शाकाहारी भोजन स्वास्थ्य के लिए सरल और उचित माना जाता है।

इस पोस्ट में इतना ही दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो हमें नीचे कमेंट में लिखकर जरूर बताएं और यह जानकारी अपने दोस्तों तक पहुंचाने के लिए उसको शेयर करना ना भूले।

Previous
Next Post »