Benefits of Ashwgandha |अश्वगंधा के फायदे और नुकसान |अश्वगंधा के उपयोग हिंदी में

Benefits of Ashwgandha |अश्वगंधा के फायदे और नुकसान |अश्वगंधा के उपयोग हिंदी में

अश्वगंधा के बारे में जानकारी(Information about Ashwagandha)


* अश्वगंधा के बारे में जानकारी(Information about Ashwagandha)-अश्वगंधा का पौधा लगभग पूरे भारत देश में पाया जाता है यह बहुत उपयोगी जड़ी बूटी मानी जाती है हमारे औषधीय विज्ञान में अश्वगंधा का उपयोग (Use of ashwagandha) लगभग जड़ से लेकर के इसकी पत्तियों तथा फलों तक और फूलों का भी किया जाता है। तथा अश्वगंधा के फायदे (benefis of ashwagandha) लिए जाते हैं
अश्वगंधा के बारे में जानकारी(Information about Ashwagandha)

* अश्वगंधा(Ashwagandha)का पौधा झाड़ी जैसा होता है जो आपको आसानी से खेतों में तथा सड़कों के किनारे देखने को मिल जाता है इसके पौधे पर सफेद रंग के रूये में पाए जाते हैं तथा पत्तियां अंडाकार की होती हैं।

* अश्वगंधा (Ashwagandha)पर छोटे मटर जैसे फल उगते हैं और फलों के ऊपर एक जाली नुमा कवर चढ़ा हुआ होता है तथा यह पकने के बाद लाल टमाटर की तरह हो जाते हैं। और पके हुए फल खाने में भी मीठे और स्वादिष्ट लगते हैं तथा हमें अश्वगंधा के फायदे (Benefits of ashwgandha)देते हैं।

इसे भी पढ़ें:-कोरोना वायरस की दवा अश्वगंधा है। Corona virus medicine is ashwagandha | 

* अश्वगंधा के पौधे (Ashwagandha plants) को आप अपने घर पर भी आसानी से उगा सकते हैं आप अश्वगंधा के पके हुए फलों के बीज को घर पर किसी गमले में लगा दें तो कुछ ही दिनों के बाद अश्वगंधा का पौधा उग जाएगा। जंगली और घर पर उगे हुए अश्वगंधा में बस फर्क इतना ही है कि जंगली अश्वगंधा के पत्ते थोड़े मोटे और सख्त होते हैं तथा घर पर उगाए गए अश्वगंधा के पौधे के पत्ते नरम और कोमल होते हैं।

अश्वगंधा के गुण(Properties of Ashwagandha)

अश्वगंधा के गुण(Properties of Ashwagandha)

1. अश्वगंधा ने हमारे औषधीय विज्ञान एक अलग पहचान बना रखी है। अश्वगंधा के फायदे (Benefits of ashwagandha) और अश्वगंधा के गुण(Properties of Ashwagandha) इतने हैं कि बाहरी दवाइयों की हमको जरूरत नहीं पड़ने देते।

2. अश्वगंधा के फायदे(Benefits of ashwagandha) हर उम्र के व्यक्तियों के लिए लाभदायक होते हैं तथा अश्वगंधा के गुण (Properties of Ashwagandha) की वजह से शरीर की कई ऐसी बीमारियों को दूर करने में हमको मदद मिलती है। अश्वगंधा के फायदे (Benefits of ashwagandha)की वजह से इसे अब विदेशों में भी भारी मात्रा में उपयोग में लाया जा रहा है।

3. अश्वगंधा में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो हमारे शरीर को स्ट्रेस तथा डिप्रेशन से मुक्त करते हैं और हमारे शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में सहायता प्रदान करते हैं।

इसे भी पढ़ें:-Benefits of neem | नीम के फायदे |health care tips

अश्वगंधा की पहचान(Ashwagandha Identification)

अश्वगंधा की पहचान(Ashwagandha Identification)

1. अश्वगंधा की पहचान(Ashwagandha Identification)-अश्वगंधा की पहचान आसान तरीकों से की जा सकती हैं इसके ऊपर आपको सफेद रंग के रोए देखने को मिलते हैं तथा इसका पेड़ 3 से 4 फीट का होता है तथा यह एक झाड़ी नुमा पौधा होता है।

2. अश्वगंधा के पत्ते(Ashwgandha leaves) को रगड़ कर सुने पर घोड़े जैसी स्मेल आती है इससे आप आसानी से पता लगा सकते हैं कि वह पौधा अश्वगंधा का है।

3. अश्वगंधा के पौधे पर छोटे-छोटे जाली नुमा कवर से ढके हुए फल आते हैं जो कच्चा होने पर हरे रंग के होते हैं तथा पक जाने के बाद छोटे लाल टमाटर की तरह हो जाते हैं।

4. अश्वगंधा के पत्ते (Ashwagandha leaves)रंग में हरे और आकार में अंडाकार के होते हैं इससे इसकी पहचान करने में हमको आसानी होती है। की उपलब्धि लगभग पूरे भारतवर्ष में पाई जाती है।

इसे भी पढ़ें:-गिलोय के फायदे | Benefit of Giloy

अश्वगंधा के फायदे हिंदी में(Benefits of ashwagandha in hindi)

अश्वगंधा के पत्ते(Ashwagandha leaves) के लाभ:-

अश्वगंधा के पत्ते(Ashwagandha leaves) के लाभ:-


1.अश्वगंधा की पत्तियों के कई प्रकार की दवाइयां बनाई जाती हैं। जिनसे हम अश्वगंधा के कई लाभों का फायदा उठाते हैं अश्वगंधा की पत्तियों(Ashwagandha leaves) द्वारा निर्मित औषधियों से कई प्रकार के रोग हमारे शरीर से दूर होते हैं।

2.अश्वगंधा के पत्ते( Ashwagandha leaves) हमें मोटापे जैसी परेशानी से भी मुक्त कराने में बहुत सहायक होते हैं।अश्वगंधा के पत्ते का सेवन एक-एक करके दिन में तीन बार करने से हमारे बड़े हुए वजन को नियंत्रित करने में काफी सहायता मिलती है।
अश्वगंधा का उपयोग(Use of ashwagandha) और अश्वगंधा के लाभ (Benefits of ashwagandha)

अश्वगंधा का उपयोग(Use of ashwagandha)
और अश्वगंधा के लाभ (Benefits of ashwagandha)


• अश्वगंधा (ashwagandha) की ताजी जड़ को चंदन की तरह घिसकर गांठ के ऊपर लगाना चाहिए तथा यहां सूजन हो वहां अश्वगंधा के लेप का उपयोग करना चाहिए। ऐसा करने से आपकी गांठ जल्द से जल्द ठीक हो जाएगी और सूजन भी खत्म हो जाएगी तथा आपको अश्वगंधा का लाभ पूर्ण रूप से मददगार साबित होगा।

अच्छी नींद लाने के लिए अश्वगंधा से बने अश्वगंधा रिष्ट (Ashwagandha Rishta) का प्रयोग रोजाना 15 से 30 मिली लीटर करना चाहिए इससे आपको अच्छी नींद आएगी । इस तरह अश्वगंधा का उपयोग करने से दिमाग भी शांत बना रहेगा।

यदि किसी व्यक्ति का मोटापा ज्यादा बढ़ जाता है तो उसके लिए अश्वगंधा के पत्ते (Ashwagandha leaves) का उपयोग करना चाहिए। एक पति को गोली की तरह बना कर दिन में तीन बार सेवन करने से मोटापा जल्द से जल्द खत्म हो जाएगा और आपको अश्वगंधा के फायदे (Benefis of Ashwgandha) मिलेंगे।

 जिन लोगों का वजन अत्याधिक कम है उनके लिए अश्वगंधा चूर्ण (Ashwagandha powder) का प्रयोग बहुत लाभकारी होता है रोजाना दिन में तीन बार एक चम्मच अश्वगंधा की जड़ का चूर्ण (Ashwagandha root powder) का प्रयोग करने से वजन तेजी से बढ़ने लगता है। तथा शरीर भी स्वस्थ बन जाता है।

इसे भी पढ़ें:-The many benefits of mint | Health Care Tips Hindi | पुदीने को खाने के उपयोग में लाने के अद्भुत फायदे।

सफेद मूसली और अश्वगंधा के फायदे(Benefits of white musli and ashwagandha)


1 .जिन लोगों को वीकनेस थकावट तथा कमजोरी महसूस होती है। सफेद मूसली और अश्वगंधा के फायदे चूर्ण ( Benefits of white musli and ashwagandha powder) के रूप में उपयोग करने से पूर्ण रुप से मिलते हैं तथा इसका उपयोग करने से वीकनेस और थकावट दूर होती है और शरीर में नई फुर्ती आ जाती है।

2.  मौसमी सर्दी जुखाम या फिर वायरल इन्फेक्शन में सफेद मूसली और अश्वगंधा के फायदे काफी देखने को मिलते हैं। सफेद मूसली और अश्वगंधा के चूर्ण( Benefits of white musli and ashwagandha powder)का प्रयोग करने से मौसमी सर्दी जुखाम से आपका बचाव होता है।

3. सफेद मूसली और अश्वगंधा (white musli and ashwagandha) योन शक्ति को बढ़ाने में काफी असरकारी माना जाता है अश्वगंधा और सफेद मूसली के चूर्ण का उपयोग करने से योन शक्ति में इजाफा होता है। जिन लोगों को ऐसी कोई परेशानी है वह इसका इस्तेमाल जरूर करें आपको लाभकारी फायदे जरूर मिलेंगे।
अश्वगंधा के नुकसान(Side effects of ashwagandha)

अश्वगंधा के नुकसान(Side effects of ashwagandha)


• अश्वगंधा के नुकसान (Side effects of ashwagandha) भी होते हैं :-यदि दोस्तों कोई औषधि अगर फायदेमंद होती हैं तो उसके कुछ नुकसान भी जरूर होते हैं चलिए जानते हैं वह नुकसान कौन से हैं और उनसे हमें क्या परेशानी हो सकती है।

• आपने ऊपर पड़ा कि जिन लोगों को नींद कम आती है उनको इसका अश्वगंधा का उपयोग(Use of ashwagandha) करने से नींद अच्छी आने लगती है। लेकिन अगर इसका उपयोग भारी मात्रा में और लंबे समय के लिए किया जाए तो जो लोग इसका उपयोग कर रहे हैं उनको ज्यादा नींद आने लगती है और उससे उनके स्वास्थ्य पर भी असर पड़ सकता है।

• जिन लोगों का वजन अत्याधिक होता है अगर वह अश्वगंधा के चूर्ण (Ashwagandha powder) का उपयोग करते हैं तो उनका वजन और अधिक बढ़ने लगता है जिससे उनको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

• अश्वगंधा का चूर्ण (Ashwagandha powder) लंबे समय से उपयोग करने वालों को यदि कोई बीमारी हो जाती है। उनके लिए किसी भी दवाई का फायदा मिलने में काफी समय लगता है। या फिर वह दवाई कम असर दिखाती हैं।

इसे भी पढ़ें:- Ayurvedic 6 benefits of Tulsi |Health care tips Hindi | तुलसी से होने वाले 6 आयुर्वेदिक फायदे। 

अश्वगंधा के उपयोग से होने वाले नुकसान से बचाव(Avoidance of harm caused by the use of Ashwagandha)


•  अश्वगंधा के उपयोग(Uses of Ashwagandha) से होने वाले नुकसान से बचाव के लिए हम यह नहीं कहेंगे कि आप इसका सेवन ना करें लेकिन हां इतना जरूर कहना चाहेंगे कि इसका सेवन नियमित मात्रा में और नियमित समय तक ही करें ताकि इससे होने वाले नुकसान आपको ना हो।

जिन लोगों को कोई बीमारी नहीं है यदि वह फिर भी किसी मल्टी विटामिन या फिर किसी भी स्वास्थ्यवर्धक दवाइयों का उपयोग करते हैं वह उसका लंबे समय तक उपयोग ना करें या फिर बीच-बीच में कुछ विराम जरूर दें।

जो लोग मोटापे से परेशान हैं वह अश्वगंधा के चूर्ण(Ashwagandha powder) का प्रयोग ना करें। उसकी जगह अश्वगंधा की पत्तियों का सेवन करें ताकि उनके शरीर में मोटापा ना बढ़े।

जिन लोगों को अश्वगंधा नहीं मिल रहा हो वह लोग अश्वगंधा पतंजलि ( Ashwagandha Patanjali) के प्रोडक्ट का उपयोग कर सकते हैं पतंजलि में बने हुए अश्वगंधा चूर्ण पतंजलि के फायदे (Benefits of ashwagandha powder patanjali) आप ले सकते हैं।

अगर दोस्तों आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं और ऐसी स्वास्थ्यवर्धक जानकारियां आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।






Previous
Next Post »

3 comments

Click here for comments
Unknown
admin
May 26, 2020 at 1:28 PM ×

OMG nice information about ashwagandha for medical use

Reply
avatar
Unknown
admin
June 9, 2020 at 4:02 PM ×

Nice information provided for this blog really useful information.

Reply
avatar
Unknown
admin
June 9, 2020 at 4:03 PM ×

Nice information provided this post really useful information thanks

Reply
avatar