What is healthy diet and how to eat | Health Care Tips in Hindi | स्वस्थ आहार क्या है और कैसे खाएँ।

संतुलित आहार कौन से हैं और हमें क्यों खाने चाहिए।

स्वस्थ खाना लेना सभी चाहते हैं पर लोगों को ही पता नहीं होता है कि कौन से खाने-पीने के व्यंजन हमारे लिए जरूरी है। हम आपको बताते हैं कि इस तरह के खाने से हमें थोड़ा परहेज करना चाहिए । तेल घी मक्खन और मीठा जैसी चीजें हमारे लिए नुकसानदायक है पर ऐसा नहीं है सभी चीजें अगर हम सही मात्रा में लें तो यह हमारे लिए फायदेमंद भी साबित हो सकती हैं और उन्हें हमें सीमित मात्रा में लेना भी जरूरी है । हम इस लेख में आपको यह बता रहे हैं कि आप स्वस्थ रहने के लिए क्या क्या चीजे खा सकते हैं ताकी यह चीजें आपको स्वस्थ बनाने में सहायक हो।

 स्वस्थ रहने के लिए हमें क्या-क्या चीजें खानी चाहिए?

इन बातों का अनुसरण करें दुनिया भर में कहीं भी स्वस्थ रहने के लिए :-

सूप :-

पालक का सूप , टमाटर का सूप, गाजर का सूप, या फिर मिक्स सब्जियों का सूप हमारे लिए बहुत फायदेमंद है।

तरल पदार्थ :-

छाछ, नारियल पानी, नींबू पानी और संतरे या मौसंबी का जूस पीना चाहिए।

सब्जियों में :-

सभी तरह के हरे पत्तेदार सब्जियां , पत्ता गोभी , काशीफल, खीरा , काकड़ी , लोकी , गाजर, प्याज टमाटर, भिंडी, करेला, फूलगोभी, सेम की फली, गिलकी या फिर बींस, फूलगोभी आदि तरह की सब्जियों का उपयोग करना चाहिए।

अनाज में :-

चावल , गेहूं , दलिया , रवा , मुरमुरे , जो , मक्का बाजरा ।

दालों में :-

साबुत मूंग, सोयाबीन , राजमा , हरी और पीली मूंग की दाल


दूध से बने सामान :-

दही , पनीर , स्कीम दूध
 ( अगर आप नॉर्मली भैंस का दूध उपयोग में लाते हैं तो उसको उबालकर फ्रिज में रखकर सुबह उसकी मलाई निकालकर उपयोग में लाएं), छाछ।

मांसाहारी भोजन:-

सामान्य रूप में यह माना जाता है कि शाकाहारी भोजन सेहत के लिए खराब होता है जो कि बिल्कुल गलत है। इसकी भी उचित मात्रा में बहुत जरूरत है। मांसाहारी में हाई प्रोटीन होती। तथा अंडा भी बहुत लाभदायक होता है।अंडे का सफेद भाग पहला भाग बहुत फायदेमंद साबित होते हैं। मछली और चिकन सभी की उचित मात्रा में उपयोगिता जरूरी है। इससे हमारे शरीर को सभी तरह के पोषक तत्व मिल जाते हैं।इसमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बहुत कम होती है, ओमेगा 3 तथा फैटी एसिड भी अच्छी खासी मात्रा  में पाया जाता है। मांसाहारी को उबालकर या भाप के द्वारा अच्छी तरह से पका कर यह उसको आप पर सेक कर या फिर उसे रोशनी अपडेट कर कर खाना चाहिए।  चिकन को तलकर खाने से कई तरह के नुकसान होते हैं क्योंकि इस तरीके से यह काफी हैवी हो जाता है।

शक्कर :-

मीठे की मात्रा हमें कम से कम रखनी चाहिए दिन भर में एक या दो चम्मच ही मीठा लेना चाहिए इससे ज्यादा लेने से हमारे शरीर में फैट बढ़ने लगता है।

पानी :-

हमें रोजाना 10 से 15 क्लास पानी का उपयोग करना चाहिए पानी को ज्यादा ठंडा इस्तेमाल में ना लाएं और अधिक मात्रा दिन के वक्त यानी शाम को 8:00 बजे से पहले ही ले इसके बाद जरूरत के अनुसार ही पानी पीने ।

तेल :-

 तेल की मात्रा हमारे शरीर के लिए 1 दिन में दो से तीन चम्मच पर्याप्त रूप में होती है।

फल :-

रोजाना हमें खाने के बाद दो से तीन फल जरूर लेनी चाहिए क्योंकि यह हमारे भोजन के आवश्यक तत्व को हमारे शरीर में पहुंचाने में बहुत सहायक होता है। जैसे कि सेव ,  मौसंबी , पपीता , संतरा आडू , तरबूज,  बेर  , अमरूद , लीची यह हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद फल है। लेकिन आम और अंगूर तथा चीकू एवं केला का उपयोग ज्यादा मात्रा में नहीं करना चाहिए इसको स्वाद अनुसार ही खाएं।


उपवास :-

व्रत रहना हिंदू परंपरा में एक अहम हिस्सा माना जाता है वैसे ज्यादातर घरों में हफ्ते में एक दिन कुछ ना खाना फायदेमंद साबित होता है। इसके लिए व्रत एक अच्छा तरीका है। मगर आप इस 1 दिन भूखा नहीं रह सकते तो खाने के लिए भी हम बहुत सी चीजें बताएंगे। उपवास के दिन आप स्किम दूध दही लस्सी ले सकते हैं और इसके अलावा फल में जूस नारियल पानी सूप भी बना कर ले सकते हैं तथा इसके अलावा और आप खाने में राजगीरा , मोरधन मूंगफली भी खा सकते हैं,एक बात का जरूर ध्यान रखें  उपवास के दिन आप बिल्कुल भूखे ना रहे थोड़ा बहुत कुछ जरूर खाएं। उपवास के नाम पर आजकल लोग बाग अधिक तेल तथा वसायुक्त खाना खाते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत नुकसानदायक होता है 1 दिन भूखा रहकर इतना हैवी खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।

 इस तरह के खाने से परहेज करें :-

1.तला हुआ खाना जैसे कि  पूरी , भजिया , पराठे अचार  , कचोरी , समोसा , पापड़ी।

2. मिठाईयां केक पेस्ट्री आइसक्रीम कस्टर्ड पुडिंग का इस्तेमाल ना करें या फिर कम से कम करें

3. सब्जी आलू अरबी सूरन गराडू

4. बटर चीज म्योनीज पिज़्ज़ा आदि का उपयोग हमें ज्यादा नहीं करना चाहिए

5. अधिक मात्रा में हमें मेरे और नारियल नहीं खाने चाहिए एक सीमित मात्रा में ही इन्हें खाएं।

6. हमें शराब कोल्ड ड्रिंक सोडा या फिर डब्बे वाले जूस से परहेज करना चाहिए

7. हमको चाऊमीन पिज्जा बर्गर पास्ता माइक्रोनी साबूदाना वगैरह नहीं खाना चाहिए क्योंकि इनसे हमारे शरीर में कई तरह की बीमारियां उत्पन्न होती हैं और इससे हमारा मोटापा भी बढ़ता है

 8. ज्यादा देर से रखा हुआ खाना  या फिर 1 दिन पुराना खाना  हमको नहीं खाना चाहिए क्योंकि उसमें कई तरह के बैक्टीरिया उत्पन्न हो जाते हैं।

 9. ज्यादा मलाई वाला दूध का उपयोग हमें नहीं करना चाहिए क्योंकि उस में वसा की मात्रा काफी अधिक होती है।

10. हमें शादी समारोह के खाने में भी परहेज करना चाहिए क्योंकि उसमें काफी अधिक तेल और ज्यादा मसालों का उपयोग होता है जिससे कि हमारा पेट खराब हो सकता है।

ध्यान रखने योग्य बाते :-

.हमें सुबह नाश्ता करके ही बाहर निकलना चाहिए इसे कभी नहीं भूलना चाहिए।

.सुबह के खाने और दोपहर के खाने और रात के खाने में ज्यादा लंबा गैप ना दें क्योंकि अधिक समय तक भूखे रहने से हमारे शरीर में मेटाबॉलिज्म रेट कम हो जाता है जिससे कि हमारा वजन बढ़ने लगता है।

 .हमें खाने को तसल्ली पूर्वक खाना चाहिए क्योंकि इससे हम खाने को सही तरीके से चबाकर खाते हैं

.दिन में दो या से ज्यादा चाय या कॉफी ना लो हो सके तो हमें काली चाय या फिर काली कॉफी तथा ग्रीन टी लेनी चाहिए लेकिन इससे भी ज्यादा मात्रा में नहीं लें


.स्वस्थ शरीर में स्वस्थ दिमाग का वास होता है दुनिया में पेट को भरने के लिए ही कमाया जाता है। अगर इस दुनिया में भूख नाम की कोई चीज नहीं होती तो आप शायद इस समय अपने घर में बैठे होते और मेहनत करने से परहेज करते । जैसे इस भागदौड़ वाली जिंदगी को भूल चुके होते । तो आज के जमाने में हल्दी रहना कितना जरूरी है यह हमको अच्छी तरीके से पता है।

.अगर आपका आपके खाने पीने पर अच्छी तरीके से कंट्रोल रहेगा तो आपको कोई भी बीमारी आपके शरीर में प्रवेश नहीं कर पाएगी स्वस्थ रहने से हमारा शरीर मजबूत बना रहना चाहिए तथा उसमें रोगों से लड़ने की क्षमता भी बड़ी रहने चाहिए । छोटे-मोटे इंफेक्शन से कोई फर्क नहीं पड़ता है।
Previous
Next Post »